Thursday, June 30, 2022
Home ब्लॉग भाजपा राहुल को धन्यवाद दे

भाजपा राहुल को धन्यवाद दे

वेद प्रताप वैदिक
राहुल गांधी ने लंदन जाकर भारत की राजनीति, सरकार, संघवाद, विदेश मंत्रालय आदि के बारे में जो बातें कहीं, वे नई नहीं हैं लेकिन सवाल यह है कि उन्हें विदेशों में जाकर क्या यह सब बोलना चाहिए? भारत में रहते हुए वे सरकार की निंदा करें, यह बात तो समझ में आती है, क्योंकि वे ऐसा न करें तो विपक्ष का धंधा ही बंद हो जाएगा। भारत का विपक्ष इतना टटपूंजिया हो गया है कि उसके पास निंदा के अलावा कोई धंधा ही नहीं बचा है। उसके पास न कोई विचारधारा है, न सिद्धांत है, न नीति है, न कार्यक्रम है, न जन-आंदोलन के कोई मुद्दे हैं। उसके पास कोई दिखावटी नेता भी नहीं हैं।
जो नेता हैं, वे कालिदास और भवभूति के विदूषकों को भी मात करते हैं। उनकी बातें सुनकर लोग हंसने के अलावा क्या कर सकते हैं? जैसे राहुल गांधी का यह कहना कि भारत-चीन सीमा का विवाद रूस-यूक्रेन युद्ध का रूप भी ले सकता है। ऐसा मजाकिया बयान जो दे दे, उसे कुछ खुशामदी लोग फिर से कांग्रेस-जैसी महान पार्टी का अध्यक्ष बनवा देना चाहते हैं। जो व्यक्ति भारत की तुलना यूक्रेन से कर सकता है, आप अंदाज लगा सकते हैं कि उसके माता-पिता ने उसकी पढ़ाई-लिखाई पर कितना ध्यान दिया होगा?

कोई जरुरी नहीं है कि हर नेता अंतरराष्ट्रीय राजनीति का विशेषज्ञ हो लेकिन वह यदि अखबार भी ध्यान से पढ़ ले और उन्हें न पढ़ सके तो कम से कम टीवी देख लिया करे तो वह ऐसी बेसिर-पैर की बात कहने से बच सकता है। भारतीय राजनीति परिवारवाद और सत्ता के केंद्रीयकरण से ग्रस्त है, इसमें शक नहीं है लेकिन उसका विरोध करने की बजाय राहुल ने भारत को विभिन्न राज्यों का संघ बता दिया। इसका अर्थ क्या हुआ? याने भारत एकात्म राष्ट्र नहीं है। ऐसा कहकर क्या अलगाववाद को प्रोत्साहित नहीं किया जा रहा है?

इसी तरह पाकिस्तान की वर्तमान स्थिति की तुलना भारत से करने की तुक क्या है? भारत में कोई सरकार कभी अपनी फौज के इशारों पर नाची है? यह कहना बिल्कुल गलत है कि भारत के अखबारों और टीवी चैनलों पर भारत सरकार का 100 प्रतिशत कब्जा है। क्या आज भारत में आपात्काल (1975-77) जैसी स्थिति है? जो पत्रकार और अखबार मालिक खुशामदी हैं, वे अपने स्वार्थों की वजह से हैं। जो निष्पक्ष और निर्भीक हैं, उन्हें छूने की हिम्मत किसी की भी नहीं है।
भाजपा सरकार के प्रधानमंत्री और विदेश मंत्री पर घमंडी होने का आरोप भी लगाया जाता रहा है लेकिन यही आरोप तो आज कांग्रेस के नेतृत्व को तबाही की तरफ ले जा रहा है। हमारे विदेश मंत्रालय के अफसरों पर आक्षेप करना भी उचित नहीं है। वे अत्यंत शिष्ट और उचित व्यवहार के लिए सारी दुनिया में जाने जाते हैं। कुछ भाजपा नेताओं ने राहुल के आरोपों का मुंहतोड़ जवाब देने की कोशिश भी की है।

वह तो जरुरी था लेकिन उससे भी ज्यादा जरुरी यह है कि भाजपा अपने भाग्य को सराहे कि उसे राहुल-जैसा विरोधी नेता मिल गया है, जिससे उसको कभी कोई खतरा हो ही नहीं सकता। भाजपा को अगर कभी कोई खतरा हुआ तो वह खुद से ही होगा। भाजपा को चाहिए कि वह राहुल को धन्यवाद दे और उसकी पीठ थपथपाए।

RELATED ARTICLES

खुद चुनाव आयोग में सुधार जरूरी

अजीत द्विवेदी इससे कोई इनकार नहीं कर सकता है कि देश में बड़े चुनाव सुधारों की जरूरत है। इसलिए चुनाव आयोग ने केंद्र सरकार को...

अग्निपथ क्यों बना कीचड़पथ?

वेद प्रताप वैदिक अग्निपथ को हमारे नेताओं ने कीचड़पथ बना दिया है। सरकार की अग्निपथ योजना पर पक्ष-विपक्ष के नेता कोई गंभीर बहस चलाते, उसमें...

महंगाई के लिए कौन दोषी

आरबीआई समय पर मुद्रास्फीति पर काबू पाने के कदम उठाता, तो आज स्थिति बेहतर होती। लेकिन वह महंगाई नियंत्रण की अपनी मुख्य जिम्मेदारी भूल...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

उदयपुर की घटना पर भडक़े डच सांसद गिर्ट विल्डर्स, बोले- जिहादियों से बचाओ हिंदुत्व

ऐम्सटर्डम। उदयपुर में कन्हैया की दिनदहाड़े हत्या के बाद न केवल देश के अंदर बल्कि बाहर भी इसका विरोध हो रहा है। नीदरलैंड के...

अब यूट्यूब पर नहीं दिखेंगे विज्ञापन, बस करना होगा ये काम

नई दिल्ली। यूट्यूब पर कोई जरूरी वीडियो देखना है और ऐसे में कोई विज्ञापन आ जाए, तो मजा किरकिरा हो जाता है। अगर आप...

मुंबई इंडियन्स ने आईपीएल 2023 के लिए अभी से कसी कमर, अर्जुन तेंदुलकर, तिलक वर्मा समेत ये खिलाड़ी लेंगे खास ट्रेनिंग

नई दिल्ली। इंडियन प्रीमियर लीग 2022 में लचर प्रदर्शन के बाद मुंबई इंडियन्स ने अगले सीजन की तैयारी अभी से शुरू कर दी है।...

चेहरे की झुर्रियां टमाटर से करें दूर

बढ़ती उम्र का असर सबसे पहले चेहरे पर ही दिखाई देता है। ऐसे में महिलाएं अपनी उम्र के लक्ष्णों को छिपाने के लिए कई...

भूलभुलैया 2 के फैंस के लिए आई बड़ी खुशखबरी, अब फिल्म का तीसरा पार्ट बनाने जा रहे हैं मेकर्स

हाल ही में कार्तिक आर्यन की फिल्म भूलभुलैया 2 रिलीज़ हुई है। इस फिल्म को दर्शकों ने खूब पसंद किया है। इस फिल्म के...

DM डॉ आशीष चौहान के मार्गदर्शन में व प्रयासों से स्थानीय फल बेड़ू को मिलेगी एक नयी पहचान

पिथौरागढ़ । बेड़ू (पहाड़ी अंजीर) से जैम, चटनी एवं जूस जैसे स्वादिष्ट एवं स्वास्थ्यवर्धक खाद्य एवं पेय पदार्थ पिथौरागढ़ में तैयार किये जा रहे...

सोनप्रयाग में वाहन पर मलवा गिरने से 10 लोग घायल, एसडीआरएफ ने चलाया रेस्क्यू ऑपरेशन

रुद्रप्रयाग। 29 जून को थाना सोनप्रयाग से एसडीआरएफ टीम को सूचित किया गया कि मुनकटिया के पास एक वाहन में ऊपर पहाड़ से मलवा...

खुद चुनाव आयोग में सुधार जरूरी

अजीत द्विवेदी इससे कोई इनकार नहीं कर सकता है कि देश में बड़े चुनाव सुधारों की जरूरत है। इसलिए चुनाव आयोग ने केंद्र सरकार को...

पत्रकारों की सात सूत्रीय मांगों पर सीएम धामी की सहमति, राज्य में जीएसटी देने वालों को दी जायेगी प्राथमिकता

पत्रकारों से मुलाकात में बोले सीएम धामी, पत्रकारों के हित नहीं होने दियें जायेंगे प्रभावित.! मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने पत्रकारों की सात सूत्रीय मांग...

चुनाव आयोग ने किया उपराष्ट्रपति चुनाव की तारीख का ऐलान, 6 अगस्त को होगा मतदान

दिल्ली।  राष्ट्रपति चुनाव के बाद अब उपराष्ट्रपति चुनाव के लिए भी बिगुल बज चुका है। चुनाव आयोग ने बुधवार को उपराष्ट्रपति चुवाव के लिए तारीखों...