उत्तराखंड में कल से शुरू होगी चारधाम यात्रा

तीर्थपुरोहितों व स्थानीय लोगों ने जताया सीएम धामी का आभार,  हेमकुंड साहिब में प्रतिदिन एक हजार यात्री करेंगे दर्शन

देहरादून। चारधाम यात्रा को लेकर गुरुवार को हाईकोर्ट द्वारा सशर्त संचालन की अनुमति दिए जाने के बाद से राज्य सरकार, शासन और देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड तुरंत हरकत में आ गए थे। अब 18 सितंबर से चारधाम और हेमकुंड साहिब की यात्रा शुरू होगी।

उत्तराखंड में कल यानी शनिवार से चारधाम यात्रा शुरू होगी। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सोशल मीडिया पर यह जानकारी दी है। वहीं भाजपा के चुनाव प्रभारी और केंद्रीय मंत्री प्रहलाद जोशी ने हाईकोर्ट और राज्य सरकार को 18 सितंबर से चारधाम शुरू होने पर शुक्रिया कहा। इस सिलसिले में शुक्रवार को एसओपी जारी हो सकती है।

हेमकुंड साहिब में एक दिन में एक हजार यात्री ही करेंगे दर्शन
सिखों के पवित्र धाम हेमकुंड साहिब के कपाट 18 सितंबर से श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए जाएंगे। एक दिन में एक हजार यात्री ही धाम के दर्शन कर सकेंगे। हेमकुंड ट्रस्ट ने यात्रा को लेकर अपनी तैयारियां पूरी कर ली हैं। हेमकुंड ट्रस्ट के उपाध्यक्ष उपाध्यक्ष नरेंद्रजीत सिंह बिंद्रा ने बताया कि बाहारी राज्यों से आने वाले श्रद्धालुओं को कोविड गाइड लाइन के अनुसार ही धाम में पहुंचने की अनुमति होगी। यहां आने वाले सभी श्रद्धालुओं को ऋषिकेश गुरुद्वारा ट्रस्ट के कार्याल में अपना पंजीकरण करवाकर प्रमाण पत्र साथ लाना होगा। उन्होंने कहा कि 60 साल से अधिक उम्र और 10 साल से कम आयु के बच्चे धाम में न आएं। साथ ही यात्रियों को किसी भी कुंड में स्नान करने की अनुमति नहीं होगी।

देवस्थानम बोर्ड के सदस्य व केदारनाथ के वरिष्ठ तीर्थपुरोहित श्रीनिवास पोस्ती ने कहा कि उत्तराखंड में चारधाम यात्रा का शुरू होना सुखद है। यात्रा सफल होगी और कई परिवारों की आजीविका को बल मिलेगा। जारी बयान में पोस्ती ने कहा कि अश्विन मास की संक्रांति का दिन उत्तराखंड के लिए खुशी का दिन है। एक तरफ जहां चारधाम यात्रा का श्रीगणेश हो रहा है। वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जन्मदिन भी है। उन्होंने नैनीताल हाईकोर्ट का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि यात्रा खोलने का निर्णय आमजन के हित से जुड़ा है। अब, चारधाम से जुड़े लोगों को रोजगार मिलेगा और वे अपने घर-परिवार का भरण-पोषण कर सकेंगे। उन्होंने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी का भी आभार जताया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *