Sunday, November 27, 2022
Home अंतराष्ट्रीय लिविंगार्ड टेक्नोलॉजी कोविड डेल्टा वेरिएंट को 99 प्रतिशत तक मारने में सक्षम...

लिविंगार्ड टेक्नोलॉजी कोविड डेल्टा वेरिएंट को 99 प्रतिशत तक मारने में सक्षम साबित हुई

देहरादून- स्विट्जरलैंड स्थित सस्टेनेबल सेल्फ-डिसइन्फेक्टिंग हाइजीन टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में पूरी दुनिया में अग्रणी कंपनी, लिविंगार्ड ने आज इस बात की घोषणा की है कि इसकी टेक्नोलॉजी कोविड-19 डेल्टा वेरिएंट को मारने में सक्षम साबित हुई है। बेहद मशहूर आईआरएसएचए संस्थान द्वारा किए गए परीक्षणों के नतीजे बताते हैं, कि लिविंगार्ड टेक्नोलॉजी से सुपरचार्ज किए गए मास्क की अंदरूनी एवं बाहरी परत इस वायरस के खिलाफ औसतन 99 प्रतिशत असरदार साबित हुई है, तथा एसएआरएस सीओवी-2 के डेल्टा वेरिएंट के खिलाफ परीक्षण में इस मास्क पर कोई जीवित वायरस प्राप्त नहीं हुआ है।

परीक्षण के नतीजे दुनिया के कई हिस्सों के लिए बेहद सकारात्मक ख़बर के रूप में सामने आए हैं, जो अभी भी इस वायरस के डेल्टा वेरिएंट के प्रकोप से जूझ रहे हैं। अब ऐसे सभी देश अपने नागरिकों की सेहत एवं सुरक्षा के लिए लिविंगार्ड फेसमास्क की क्षमताओं पर भरोसा करते हुए इसका इस्तेमाल कर पाएंगे। उम्मीद की जा रही है कि इस सफलता से बच्चों की सेहत को सबसे ज्यादा फायदा होगा, क्योंकि बच्चों के डेल्टा वेरिएंट के संपर्क में आने की संभावना ज्यादा है। सर्दियों के मौसम में कोविड महामारी के दोबारा लौटने की आशंका जताई जा रही है, और ऐसे समय में डेल्टा वेरिएंट के खिलाफ लिविंगार्ड टेक्नोलॉजी के असरदार साबित होने की पुष्टि राहत देने वाली ख़बर है।

लिविंगार्ड ने आज यह भी घोषणा की कि इसकी टेक्नोलॉजी वायरस के दूसरे सबस्ट्रेट्स के खिलाफ भी असरदार साबित हो सकती है। इस तरह की क्षमता विकसित होने से एयरलाइंस, कपड़े का कारोबार करने वाली कंपनियों, हॉस्पिटैलिटी, हेल्थ-केयर, लॉजिस्टिक्स या परिवहन जैसे विभिन्न उद्योगों को काफी फायदा मिलेगा और उनके लिए शानदार अवसरों के द्वार खोलेगा। इस टेक्नोलॉजी से, इस प्रकार के सभी उद्योगों को अपने कर्मचारियों तथा ग्राहकों की अतिरिक्त सुरक्षा के साथ पूरी जिम्मेदारी से अपने कारोबार की फिर से शुरुआत करने का अवसर प्राप्त होगा।

आज घोषित किए गए आंकड़े बर्लिन की फ्री यूनिवर्सिटी तथा यूनिवर्सिटी ऑफ़ एरिज़ोना के शोधकर्ताओं द्वारा प्रस्तुत किए गए व्यापक प्रमाणों को और मजबूती प्रदान करते हैं, जिन्होंने यह साबित कर दिखाया था कि लिविंगार्ड टेक्नोलॉजी इन्फ्लूएंजा, कोरोनावायरस एसएआरएस सीओवी-2, ट्यूबरक्लोसिस एवं ई-कोलाई बैक्टीरिया, स्टेफिलोकोकी और साल्मोनेला सहित रोग पैदा करने वाले विभिन्न प्रकार के 99.9 प्रतिशत बैक्टीरिया एवं वायरस को मारने में सक्षम है।

आज प्राप्त सकारात्मक परिणामों के बारे में बताते हुए, लिविंगार्ड के सीईओ, श्री संजीव स्वामी ने कहा, “हमारी टेक्नोलॉजी डेल्टा वेरिएंट के खिलाफ असरदार साबित हुई है जो इस बात को प्रमाणित करता है कि लिविंगार्ड टेक्नोलॉजी भविष्य के लिए पूरी तरह सुरक्षित है। कोविड-19 महामारी के इस दौर में, हमारी टेक्नोलॉजी आने वाले दिनों में सस्टेनेबल सेल्फ-डिसइन्फेक्टिंग की सबसे पसंदीदा तकनीक के रूप में उभरकर सामने आएगी। वर्तमान में भी लोगों ने विभिन्न परिस्थितियों में मास्क का सहारा लेना जारी रखा है, और हमें उम्मीद है कि लिविंगार्ड मास्क लोगों का सबसे पसंदीदा, टिकाऊ, सेल्फ-डिसइन्फेक्टिंग फेसमास्क बन जाएगा।”

RELATED ARTICLES

ऋषि सुनक के खिलाफ बगावत, सरकार को टालना पड़ा अहम विधेयक पर मतदान

लंदन। ब्रिटेन के नवनिर्वाचित प्रधानमंत्री ऋषि सुनक को पहली बार अपनी ही पार्टी के सांसदों की बगावत की धमकी का सामना करना पड़ा है। मीडिया...

दुबई में ड्रिंक एंड ड्राइव मामले में भारतीय को झटका, कोर्ट ने लगाया 5,56,676 रुपए का जुर्माना

दुबई। दुबई में शराब पीकर गाड़ी चलाने और एक कार को टक्कर मारने के बाद मौके से फरार होने के मामले में एक भारतीय व्यक्ति...

अमेरिकी यूनिवर्सिटी में सिख छात्रों को कैंपस में कृपाण धारण करने की अनुमति

न्यूयॉर्क। यूनिवर्सिटी ऑफ नॉर्थ कैरोलिना, शार्लोट ने अपनी ‘वेपन्स ऑन कैंपस’ नीति में संशोधन करते हुए सिख छात्रों को कैंपस में कृपाण धारण करने की...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

गौचर व चिन्यालीसौड़ के लिए जल्द शुरू होगी हवाई सेवा

उड़ान योजना के अगले टेंडर में शामिल की जाएगी गौचर व चिन्यालीसौङ की हवाई सेवा पिथौरागढ़ से फिक्सड विंग एयरक्राफ्ट सेवाएं शुरू करने के लिए...

हिमाचल के बाद दिल्ली निकाय चुनावों में भी धामी-धामी

-मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के भाजपा प्रत्याशियों के समर्थन में हुई जनसभाओं को सुनने को उमड़ रही भीड़ दिल्ली/देहरादून हिमाचल विधानसभा चुनाव की तरह ही दिल्ली...

बढ़ते तापमान और रेता कंकड़ की वजह से तेजी से बदल रहा है हिमालय के ग्लेशियरों का आकार

देहरादून। बढ़ते तापमान और रेता कंकड़ की वजह से हिमालय के ग्लेशियरों का आकार तेजी से बदल रहा है। ग्लेशियर बर्फ का द्रव्यमान भी खो...

उत्तराखंड विधानसभा का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से होगा शुरू

देहरादून। विधानसभा के 29 नवंबर से प्रारंभ हो रहे शीतकालीन सत्र के दौरान सदन के भीतर और बाहर हंगामा होना तय है। वनंतरा रिसॉर्ट की...

सरकार शिक्षा के साथ खेलों में भी विद्यार्थियों को जोड़ने का कर रही प्रयास-रेखा आर्या

`खेलों में भी हैं बेहतर भविष्य की संभावनाएं-रेखा आर्या खेल मंत्री रेखा आर्या ने किया जिला स्तरीय खेल महाकुंभ का शुभारंभ खिलाड़ियों और खेल के प्रति...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का मन की बात कार्यक्रम हम सभी को प्रेरणा देता है: CM धामी

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने रविवार को नई दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मन की बात कार्यक्रम को सुना। मन की बात कार्यक्रम...

फीफा में जीत का जश्न, 20 लाख रुपए की शराब पी गईं 3 दिग्गज खिलाडिय़ों की पत्नियां

दोहा। इस समय यहां एक तरफ हर जगह फीफा वर्ल्ड कप का खुमार लोगों के सिर चढक़र बोल रहा है, वहीं दूसरी तरफ 3 दिग्गज...

जोमेटो एप्प अब हिंदी में भी होगा उपलब्ध

नई दिल्ली। ऑनलाइन फूड डिलीवरी प्लेटफॉर्म जोमेटो ने घोषणा की है कि वह अब हिंदी और बंगाली, गुजराती, कन्नड़, मलयालम, पंजाबी, मराठी, तमिल और...

ज्यादा पानी पीने से हो सकती हैं ये गंभीर बीमारियां, बचने के लिए करें ये काम

कहते हैं पानी सबकी सेहत के लिए जरुरी है, हालाँकि अधिक पानी पीना सेहत के लिए नुकसानदायक हो सकता है। आपको बता दें कि...

अभिनेत्री ऋचा चड्ढा इंडो-ब्रिटिश प्रोजेक्ट में आएंगी नजर, खुद किया खुलासा

अभिनेत्री ऋचा चड्ढा ने हाल में अपने लॉन्ग टाइम बॉयफ्रेंड और अभिनेता अली फजल से निकाह किया है। दोनों की शादी की खबरों ने...