उत्तराखंड: अब इधर भी दो ध्यान! ताकि ये भी करें कुछ खास..

ब्यूरो रिपोर्ट देहरादून: प्रदेश में आगामी 2022 विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस के सीएम का चेहरा घोषित होने की चर्चा इन दिनों बाजार को गरम कर रही है। जिसको लेकर प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह का बयान आया है। उन्होंने कहा कि चुनाव सम्पन्न होने के बाद हाईकमान मुख्यमंत्री तय करती है। कहा कि चुनाव सामुहिक नेतृत्व में ही लड़ा जाएगा।

वहीं पंजाब में अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू के बीच मामला ठीक ठाक कर हरीश रावत अब फिर दिल्ली पहुंचेंगे तो फिर उत्तराखंड के नेतृत्व को लेकर माथापच्ची शुरू हो जाएगी। जहां पिछले कई दिनों से लगातार पंजाब में चल रहे दिग्गजों की लड़ाई के चक्कर में उत्तराखंड के नेता प्रतिपक्ष को लेकर फैसला नहीं हो पा रहा था।

पार्टी सूत्र लगातार यह कह रहे थे जो होगा पंजाब विवाद सुलझने के बाद ही होगा। ऐसे में आज पंजाब का विवाद लगभग सुलझ ही गया है। अब उत्तराखंड की बारी आती नजर आ रही है। कांग्रेस में नेता प्रतिपक्ष या फिर नए प्रदेश अध्यक्ष के चयन को लेकर फैसला लगभग महीने भर से लटका हुआ है। पार्टी आलाकमान विधायकों के साथ-साथ तमाम नेताओं से भी बात कर चुके हैं।

सूत्र बताते हैं कि पार्टी आलाकमान के दिमाग में खाका भी तय हो चुका है। ऐसे में अब संभावना यह है कि एक-दो दिनों में पार्टी उत्तराखंड को लेकर भी फैसला कर सकती है पिछले दिनों राहुल गांधी ने हरीश रावत प्रीतम सिंह किशोर उपाध्याय काजी निजामुद्दीन समेत कई नेताओं से अलग-अलग वार्ता की थी सब ने अपनी अपनी बात रखी।

ऐसे में उम्मीद है कि एक-दो दिनों में फैसला हो जाए तो फिर कांग्रेस भी चुनावी तैयारियों में जुटे चाहे नेता प्रतिपक्ष बदले चाहे प्रदेश अध्यक्ष बदले या फिर चुनाव अभियान समिति की जिम्मेदारी जिसको भी मिले।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *