राज्य के पर्यटन में अग्रणीय बनाने को लेकर सीएम धामी ने दिया बड़ा बयान

देहरादून से शगुफता परवीन की रिपोर्ट: उत्तराखंड भारत के उत्तर में पहाड़ी राज्य है, जो पहले उत्तरांचल के नाम से जाना जाता था। दून वैली पर बसा देहरादून इसकी राजधानी है, जो चारों ओर से प्राकृतिक दृश्यों से घिरा हुआ है। इस राज्य का क्षेत्रफल 53,483 वर्ग किमी. है और यह भौगोलिक तौर पर मुख्यतः दो हिस्सों गढ़वाल और कुमाऊं में बंटा हुआ है।

यह राज्य अपने प्रचुर प्राकृतिक संसाधनों, घने जंगलों, ग्लेशियरों और बर्फ से ढंकी चोटियों के लिए जाना जाता है। नैनीताल, उत्तर-काशी, मसूरी और चमौली जैसे उत्तर भारत के लगभग सभी प्रमुख हिल स्टेशन उत्तराखंड में ही हैं। हरे-भरे और घने जंगल इसे 12 नेशनल पार्क और वाइल्डलाइफ अभ्यारण्यों के लिए आदर्श स्थान बनाते हैं।

उत्तराखंड प्रकृतिक सम्पदाओं से भरपूर है। यहां लोग देश-विदेश से घूमने आते है सुकून की तलाश में आते है। पर्यटन की उत्तराखंड का अहम रोजगार है। हज़ारो लोग इस व्यवसाय से जुड़े हुए हैं। पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए सीएम धामी ने बड़ा ऐलान किया है। उन्होंने एक कार्यक्रम के दौरान कहा है कि उत्तराखंड 2027 तक पर्यटन के क्षेत्र में अग्रणी राज्य बनेगा।

बता दें कि सीएम धामी ने कहा कि राज्य व केंद्र सरकार इस दिशा में मिलकर काम कर रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखंड को 2027 तक पर्यटन के क्षेत्र में अग्रणी राज्य बनाया जाएगा। पर्यटन एवं ऊर्जा की दिशा में सरकार द्वारा विशेष प्रयास किये जाएंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में सड़क एवं रेल परियोजनाओं के कार्यों में और तेजी लाई जाएगी।

मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम के दौरान कहा कि राज्य के छह हजार गांव जल्द ही इंटरनेट कनेक्टिविटी से जोड़े जाएंगे। दिल्ली में केंद्रीय रेलवे एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री से इस संबंध में बातचीत हुई है। उन्होंने कहा कि ऋषिकेश–कर्णप्रयाग रेल लाइन के कार्यों एवं टनकपुर बागेश्वर ब्रॉडगेज रेलवे लाइन के सर्वे में तेजी लाने का भी निर्णय लिया गया है।

इस दौरान सीएम ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के मार्गदर्शन से राज्य में विभिन्न निर्माण कार्य तेजी से हो रहे हैं। इन सभी कार्यों का राज्य के पर्यटन पर बहुत सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा।

यहाँ घूमने लायक जगह उत्तराखंड में कई ऐसे पर्यटन स्थल हैं, जिन्हें देश के सर्वश्रेष्ठ पर्यटन स्थलों की सूची में रखा जा सकता है। इनमें से इन प्रमुख स्थानों पर जरूर घूमना चाहिए। जैसे बद्रीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री, यमुनोत्री, पंच केदार, जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क, नैनीताल, रुद्रप्रयाग, चमोली, उत्तरकाशी, हरिद्वार, अल्मोड़ा, राजाजी नेशनल पार्क, ऋषिकेश, हेमकुंड साहिब गुरुद्वारा, रूपकुंड, औली, नंदा देवी और गोमुख।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *