ऑनलाइन संबंद्धता की तिथि 31 अक्तूबर तक बढ़ाने की मांग

श्रीनगर ।  एसोसिएशन ऑफ सेल्फ फाइनेंस इंस्टीट्यूट उत्तराखंड से जुड़े प्राइवेट कॉलेज और शिक्षण संस्थान संचालकों ने गढ़वाल विवि से सत्र 2020-21 की सबंद्धता शुल्क पर आपत्ति जताई है। साथ ही ऑनलाइन संबंद्धता की तिथि 31 अक्तूबर तक बढ़ाने की मांग की है।

गढ़वाल मंडल विकास निगम में पत्रकारों से बातचीत में एसोसिएशन ऑफ सेल्फ फाइनेंस इंस्टीट्यूट के अध्यक्ष सुनील अग्रवाल ने कहा कि इन मुद्दों को लेकर मंगलवार को विवि के कुलसचिव व अन्य अधिकारियों से करीब 20 प्राइवेट कॉलेजों के प्रतिनिधियों की बैठक हुई। उन्होंने कहा कि एसोसिएशन की ओर से विवि के स्तर से सबंद्धता पत्र जारी न किए जाने से छात्रों की छात्रवृत्ति नहीं मिल पा रही है। छात्रवृत्ति के लिए वर्तमान सत्र का सबंद्धता पत्र मांगा जा रहा है। इसको देखते हुए विवि से सबंद्धता पत्र जारी करने की मांग की गई है। उन्होंने कहा कि विवि कॉलेजों व संस्थानों से निरीक्षण के नाम पर प्रति कोर्स एक सदस्य 17 हजार 500 रूपए लेने की बात कह रहा है। जबकि एक कोर्स की निरीक्षण टीम में पांच सदस्य शामिल होंगे।

इस हिसाब से उन्हें प्रति कोर्स निरीक्षण शुल्क 86500 के साथ ही अलग से 5000 रूपए सबंद्धता शुल्क देना पड़ रहा है। जिससे उन्हें भारी आर्थिक नुकसान झेलना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि संस्थान सबंद्धता शुल्क देने को तैयार हैं लेकिन निरीक्षण शुल्क के नाम पर वसूली जा रही रकम को लेकर सहमत नहीं हैं। कहा विवि से ऑनलाइन आवेदन की तिथि 31 अक्तूबर तक बढ़ाने की मांग भी की गई है। उन्होंने कहा कि इन मुद्दों पर विवि ने सकारात्मक आश्वासन दिया है, लेकिन यदि विवि आश्वासन पर खरा नहीं उतरा तो उन्हें कोर्ट की शरण लेनी पड़ेगी। इस मौके पर रूड़की से प्रमोद अग्रवाल, हरिद्वार से संदीप चौधरी, लक्सर से अंबरीष गर्ग, देहरादून से निशांत थपलियाल, जितेंद्र यादव, कोटद्वार से अजयपाल सिंह रावत, जलज गौड़ी, सौरभ भूषण, सुनील सैनी, विजय रावल आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *