भ्रष्टाचार मामला: HC ने स्वीकार की याचिका! विपक्षियों को जारी किया नोटिस! सुनिए

ब्यूरो रिपोर्ट हरिद्वार: हरिद्वार निवृत्त सीएमओ डॉ सरोज नैथानी ने गत वर्ष कोविड-19 में करोड़ो रुपए के घोटाले किए गए थे उन घोटालो कि जनहित याचिका उच्च न्यायालय में दायर की गई न्यायालय में जनहित याचिका स्वीकार कर ली है। और विपक्षियों को नोटिस जारी कर दिए गए हैं। यह बड़ा भ्रष्टाचार का मामला है।

 

 गत वर्ष 2020 में मुख्य चिकित्सा अधिकारी हरिद्वार डॉ० सरोज नैथानी व उसके सहायकों द्वारा कोविड बजट में करोड़ो रूपये के घोटाले किये गए थे और ए.एन.एम. प्रमोशन में ही बडे स्तर पर भ्रष्टाचार किया गया था। और ट्रांसफर पोस्टिंग व नियुक्ति में भी भारी भ्रष्टाचार किया गया था इन सभी विषयों को लेकर हमने पत्राचार के माध्यम से स्वास्थल महकमें में आला अधिकारियों को दर्जनों पत्र लिखे और सोशल मीडिया, प्रिंट मीडिया, इलैक्टोनिक मीडिया में भी यह मामला गत वर्ष सुर्खियों में रहा था इन सब घोटालो व भ्रष्टाचार को लेकर उच्च अधिकारियों ने डॉ० सरोज नैथानी को हरिद्वार सी.एम.ओ पद से हटा दिया
गया था।

सरकार विभाग के आदेशानुसार उपरोक्त सभी भ्रष्टाचार व घोटालों की जांच कमेटी गठित कर जांच कराई गई थी लेकिन उस जांच को डॉ० नैथानी ने सेटिंग गेटिंग के तहत दबा दिया गया था। उपरोक्त भ्रष्टाचार व घोटालों के सम्बंध में हरिद्वार ग्रामीण विधायक वर्तमान कैबिनेट मंत्री स्वामी
यतीश्वरानन्द ने भी अनेकों पत्र आला अधिकारियो को इस भ्रष्टाचार के सम्बन्ध में लिखे थे।
सभी पत्राचार को संज्ञान लेते हुए डॉ० नैथानी व इसके सहयोगियों के खिलाफ जो जांच चल रही थी उस जांच में वह दोषी पाये गये थे लेकिन उस जांच रिपोर्ट के आधार पर डॉ० नैथानी के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं की गई थी बल्कि डा0 नैथानी को और मलाईदार महत्वपूण पद दे दिया गया था उसी पद पर डॉ0 नैथानी आजतक विराजमान है।

सभी घोटाले व भ्रष्टाचार के साक्ष्य सूचना के अधिकार में एकत्रित करके उच्च न्यायालय नैनीताल में एक जनहित याचिका दायर की गई थी। 27.07.2021 को उच्च न्यायालय से सबूतों का संज्ञान लेते हुए हमारी याचिका को स्वीकार किया और उसमें मुख्य स्वास्थ्य सचिव व महानिदेशक स्वस्थ उत्तराखण्ड डॉ० सरोज नैथानी वर्तमान सी.एम.ओ. हरिद्वार व अन्य के खिलाफ नोटिस जारी किया है।
चार सप्ताह के अंदार उच्च न्यायालय में जवाब दाखिल करने का समय दिया है। यह उत्तराखण्ड स्वास्थय विभाग का बहुत बड़ा घोटाला है एक समाजसेवी होने के नाते हमने अपना यह दायित्व समझा और माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आहवान पर जीरो टोरलेंस सरकार का सहयोग हमाने किया है और आगे भी करेगें और जनता की कमाई
का पैसा जो भी अधिकारी भ्रष्टाचार के तहत हड़प करने की कोशिश करेंगे। उसके खिलाफ इसी प्रकार मुहिम चलाकर हाईकोर्ट व सुप्रीम कोर्ट तक लडाई लड़ने का काम करेगें और भ्रष्ट अधिकारी को बिल्कुल भी बक्शशा नहीं जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *