गाय के गोबर से बनी राखियों की उत्तरकाशी में मची धूम

रविवार, 22 अगस्त को रक्षाबंधन का पावन पर्व मनाया जाएगा। हर साल सावन मास में पूर्णिमा तिथि पर भाई- बहन का यह पवित्र त्योहार मनाया जाता है। इस दिन बहन भाई को राखी बांधती है और भाई बहन को उपहार देता है और जीवनभर बहन की रक्षा करने का वचन भी देता है।
भाई-बहन के स्नेह का त्योहार रक्षाबंधन के नजदीक आते ही सभी बहनें अपने भाईयों के लिए राखी खरीदते हुई नजर आ रही हैं, लेकिन इस बार उत्तरकाशी में गाय के गोबर से बनी राखियाँ खूब बिक रही हैं। आपको बता दें कि अजय प्रकाश बडोला द्वारा तैयार की गई इन राखियों को उत्तरकाशी के लोग खूब पसंद कर रहे हैं।
वहीं अजय प्रकाश बडोला ने बताया कि उन्होंने यह राखियां प्रयोग के तौर पर तैयार की थीं। लेकिन अब इन राखियों की मांग इतनी बढ़ गई है कि दिन-रात काम करना पड़ रहा है। वहीं राखी खरीदने वाली महिलाओं का कहना है कि इन राखियों में हमारी भारतीय संस्कृति का स्वरुप है। जो कि चाइनीज राखियों से कहीं ज्यादा बेहतर और सुंदर हैं।
महिलाओं का कहना है कि गाय से बनी गोबर की ये राखी शुद्ध और सुंदर है। इन राखियों के साथ चावल भी रखे गए हैं। उन्होंने कहा कि इनकी डिमांड इतनी बढ़ गई है कि दिल्ली मुंबई से राखियों की मांग आ रही है। गाय के गोबर से बनी राखियों का विशेष महत्व है। उनका कहना है कि जो भी यह राखी बांधेगा, उसके हाथ से ये राखी टच होगी उसको शान्ति मिलेगी।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *